Monday, June 24, 2024
spot_imgspot_img

Top 5 This Week

spot_img

Related Posts

मिला हूँ अब जो तुम से, दिल को मेरे कसम से सुकून मिला!

एक बात अजब सी है थोड़ी अलग सी!

खाना तो रोज ही हम सब खाते है कोई नयी बात नहीं है पर इस बच्चे को जब खाते देखा तो मेरी भूख बढ़ गयी

दिल से कह रही हूँ मुझे खाने से प्यार हो गया । जिस नज़ाकत से, तसल्ली से गोलू मोलू इन चावलो को अपने होठो से लगा रहा था, सच्ची मेरा तो दिल ही खुश हो गया।

मै कुछ घड़ी जब बैठी इसके पास, इसकी मैं जो बोझा डो रही थी, मेरी इन हरकतो को देखकर मुस्कुरा रही थी। उनको खुद पर हॅसते देख थोड़ी झिझक हुई मुझे, पर मैं बैठी रही और खुद बच्ची बनके उसके साथ खेलने लगी।

arpita-kid-khurki.net

सच्ची कहॅू तो मुझे ये सब करने में कही ना कही अपना स्वार्थ नज़र आया क्योंकि कही ना कही कुछ आसपास के लोग मुझे बडे़ ही ध्यान से देख रहे थे और मुझे ये बात थोड़ी अच्छी लग रही थी।

उन कुछ घडि़यो में मुझे पता ही नही चला कि कब मेरे चालाक दिमाग से ये सारी बाते गायब हो गयी और मै कब उस बच्चे के साथ मशगूल हो गयी। उन कुछ मिनटो को जब मैने बाद में कई बार याद किया और अपने दोस्तो और परिवार वालो से सांझा किया तो हर बार एक मीठा सुकून मिला, हर बार लगा जैसे कुछ तो अच्छा कर रही हूॅ मै।

शायद इसीलिए आज ये पल आपके सामने भी बयाॅ कर रही हूँ। मकसद सिर्फ इतना है की आप भी यकीनन कई ऐसे पलों से गुजरे होगे जिनको याद करके थोड़ी अलग सी खुशी और सुकून मिला हो आपको । मै ये तो नहीं जानती की उन मासूम चेहरो से मैने क्या-क्या सीखा पर मेरी संवेदना जरूर जगी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Popular Articles