37 C
New Delhi
Sunday, April 11, 2021

क्या? सम्बन्ध के दौरान भी चैटिंग कर सकते हैं नौजवान!

Humour

And these Jugaad simply deserve your applause!

Hacks aka Jugaad in India, but hey, it is not just the copyright of Indians to be good at Jugaad. There are many people...

These Memes about 90s will give you a dose of laughter, provided you lived the 90s!

The years gone by always end up giving you mixed feelings. It is not about time passed but how fast the world has changed...

#SanjuTrailer is out and it gives birth to another meme trail you will love!

The internet is not at all tired of praising Ranbir Kapoor's rather Sanjay Dutt's Sanju. The trailer has crossed 16 Million views in a day...

CBSE Class X results are the gold mine of memes, here are the best of the lot!

With anything major happening in our country the netizens are treated with whole lot of memes. No matter what kind of news it is,...
Team Khurki
Team Khurkihttps://khurki.net
KHURKI is a character who's sarcastic by birth and has sarcasm running in its veins in place of blood. Its bitter-sour tongue gives it the edge!


क्या आप नहाते वक्त, सेक्स के दौरान, टॉयलेट में या फिर किसी के अंतिम संस्कार में टेक्सटिंग के आदि हैं?

अगर हां, तो टेक्सट चेक करने और वापस जवाब देने के इस लालच या लोभ से दूर रहने की कोशिश करें और वर्तमान स्थिति पर ध्यान देने की कोशिश करें।

[adrotate banner=”3″]

पेनसिलवेनिया स्टेट यूनिवर्सिटी के मनोवैज्ञानिकों के मुताबिक युवाओं को ये पता होता है कि सेक्स या किसी के अंतिम संस्कार के दौरान टेक्सट करना बुरी बात है, लेकिन फिर भी वो ये काम करते हैं।

सोशल साईंस जरनल में छपे एक लेख में मनोविज्ञान की एसोसिएट प्रोफेसर मरीसा हैरिसन कहती हैं, “स्मार्ट फोन्स की टिमटिमाती रोशनी आपको कई मौकों या फिर किसी खतरे का आभास कराती हैं जिसकी वजह से लोग वर्तमान स्थिति से ध्यान हटाकर भविष्य पर ध्यान एकाग्रित करते हैं”।

शोधकर्ता इस ओर इशारा करते हैं कि कॉलेज के छात्र ना सिर्फ टेक्सटिंग के व्यवहार में नए कायदे गढ़ रहे हैं, बल्कि इन कायदों को तोड़ने के लिए वे उतने ही प्रलोभित होते हैं।

शोधकर्ता ने 152 नौजवान छात्रों का सर्वे किया जिसमें उनसे विभिन्न परिस्थितियों के दौरान टेक्सटिंग और उनकी आम टेक्सटिंग आदतों के बारे में 70 सवाल पूछे गए।

सर्वे में छात्रों ने माना कि वो अंतिम संस्कार, शावर, सेक्स और टॉयलेट के दौरान टेक्सट कर चुके हैं।

जहां अधिकतर छात्रों ने कहा कि नहाते वक्त टेक्सटिंग सामाजिक रूप से अस्वीकार्य है, वहीं 34 फीसदी से अधिक का कहना था कि वो फिर भी ये करते हैं।

लगभग 7.4 फीसदी छात्रों का कहना था कि सेक्स के दौरान वो टेक्सट कर चुके हैं, हालांकि उन्होंने माना कि ये गलत है।

शोधकर्ताओं के मुताबिक बाथरूम में या खाते वक्त टेक्सट करना, कॉलेज के छात्रों के लिए अब आम बात हो गई है।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Also From The Author

Abki Baar: Be Ready To Entertain Request For ‘Hindu-Only’ Driver

You need juice in your balls to ask for a Hindu driver in this country and too on a social media platform. But this man...

Here Comes Another Superb HTC Phone!

Hope this one works for HTC!

Tweeple Trolls The Expensive iPhone 7, A Laugh Riot!!

The apple's achievement of the year and the most talked about phone iPhone 7 was launched yesterday. The company claims the phone comes with...

Lonely Lady Picking Up Young Boys! Shock Treatment…

More of such treatments needed...

This Video Will Surely Leave You Teary Eyed

Sob sob....Khurki is very emotional too...